खबरे

बुजुर्ग माता-पिता संग समय बिताये CM हिमंता ने दी कर्मचारियों को विशेष छुट्टियों का तोहफा

नव वर्ष के तोहफे के तौर में असम सरकार ने अपने कर्मचारियों को विशेष छुट्टीया दी है। जनवरी २०२२ के पहले सप्ताह के चार दिन की विशेष छुट्टिया दी हैं, ताकि वह के कर्मचारियां इन छुट्टियों में अपने परिजनों के साथ थोड़ा समय बिता सके। हिमंथ बिस्वा शर्मा जो की असम के मुख्यमंत्री हैं इन्होने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा की वो अपने कर्मचारियों को ये छुट्टिया खास कर अपने बुज़ुर्गो और सम्बन्धियों के साथ अपना प्यारा समय बिता सके।

assam cm announces special holidays

ट्वीटर पर मुख्यमंत्री ने ये भी लिखा की ” प्राचीन भारतीय मूल्यों को बनाये रखने के लिए मैं अपने कर्मचारियों को ६ और ७ जनवरी को विशेष अवकाश के रूप में इन छुट्टियों को दिया है। यह भी कहा है की कर्मचारी अपने माता/ पिता के सात और अपने ससुराल वालो के साथ में गुणवत्तापूर्ण समय बिताने की बात कही है। साथ ही उन्होंने कहा की अपने माता पिता के आशीर्वाद से एक नए असम और नए भारत के निर्माण के लिए खुद को फिर से समर्पित करने का अनुरोध किया है।

अपने बुज़ुर्ग माता पिता के संग मूल्य समय बिताने के लिए

नेतृत्व वाली भाजपा पार्टी को शर्मा ने इस चीज़ के लिए अधिसूचना जारी करदी है। २ जनवरी २०२२ को मीडिया से बात करते हुए ये कहा की वो याद दिलाना चाहते हैं की सबुत के तौर पर छुट्टियों के दौरान कर्मचारियों को अपनी छुट्टिया अपने माता पिता और अपने सास ससुर के साथ बितानी होगी और यह भी अनिवार्य है की उन लोगो को अपने माता पिता के साथ की तस्वीरों को बताना होगा।  इसके अलावा उन्होंने ये कहा की स्वस्थ्य, डिप्टी पुलिस, और स्वस्थ सेवा अधिकारियो एवं आपातकालीन सेवाओं से जुड़े और दूसरे अधिकारी भी अगले चार महीनो में चरणबद्ध तरीके से इन सभी छुट्टियों का लाभ बहुबि उठा सकते हैं।

असम सरकार ने अगस्त २१ को यह फैसला लिया है की वे अपने सारे कर्मचारियों को साल में एक बार ७ दिन की छुट्टी देंगे। पर ये छुट्टिया मंज़ूर इसी सख्त शर्त पर दी जाएगी की वे लोग इस छुट्टियों को अपने माँ बाप के साथ ही बिताएंगे। स्वतंत्रता दिन को असम के सीएम हिमंथ बिस्वास शर्मा ने इन छुट्टियों के बारे में असाइन किया था और साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा है की लोगो को अपने बूढ़े माता पिता को वृद्धाश्रम न भेजने का संकल्प लेने के लिए कहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.