झुंझुनू की बेटी हुई अमेरिकन एयरफोर्स में शामिल, प्रज्ञा शेखावत ने किया जिले का नाम रोशन

जब भी फ़ौज या फौजियों की बात की जाती है तब राजस्थान के झुंझुनू जिले का नाम आना तय है। भारतीय सेना में सबसे ज्यादा सैनिक होने की बात हो या सबसे ज्यादा शहीद होने वाले सैनिकों की बात हो झुंझुनू जिले का नाम सबसे ऊपर होता है लेकिन अब झुंझुनू जिले के युवा भारतीय सेना ही नहीं अमेरिका की सेना में भी शामिल होने लगे हैं। झुंझुनू जिले की नवलगढ़ तहसील के जाखल ग्राम की बेटी प्रज्ञा शेखावत हाल ही में अमेरिकन एयरफोर्स में शामिल हुई हैं। वे अमेरिकन एयरफोर्स में बतौर लेफ्टिनेंट शामिल हुई हैं।

झुंझुनू जिले के जाखल ग्राम की बेटी प्रज्ञा शेखावत ने अमेरिकन एयरफोर्स में शामिल होकर झुंझुनू जिले का ही नहीं बल्कि देश का भी नाम रौशन किया है।
प्रज्ञा शेखावत के भाई सुवीर शेखावत भी अमेरिकन एयरफोर्स में हैं। सुवीर शेखावत ने पाँच साल पहले अमेरिकन एयरफोर्स जॉइन की थी और आज वे वहाँ कैप्टेन के पद पर कार्यरत हैं। प्रज्ञा और सुवीर के पिता दुष्यंतसिंह शेखावत काफी समय पहले पढाई करने अमेरिका गए थे तब से वहीं के होकर रह गए और अब दुष्यंत सिंह शेखावत की माताजी और उनका पूरा परिवार अब अमेरिका में ही रहता है।

Pragya Shekhawat in US Air Force

परिवार के अन्य सदस्य जो गाँव में रहते हैं वे बताते हैं कि परिवार का अभी भी मिट्टी से गहरा जुड़ाव है। परिवार के अन्य सदस्यों के अनुसार प्रज्ञा कुछ सालों पहले गाँव आई थी और यहाँ काफी वक़्त भी बिताया। गाँव के बच्चों को रोबोटिक्स के बारे में पढ़ाती थी और उन्हें भविष्य के लिए तैयार करती थी। अब भी प्रज्ञा यहाँ के बच्चों के संपर्क में है और उनसे बातचीत करती रहती है। परिवार के लोग बताते हैं कि प्रज्ञा और सुवीर के पिता दुष्यंतसिंह शेखावत भी बच्चों के तरह ही बहुत मेहनती थे। दुष्यंतसिंह शेखावत अभी अमेरिका में ही अपने शोधकार्य में लगे हुए हैं।

प्रज्ञा शेखावत ने कमीशन सेरेमनी में लेफ्टिनेंट कमीशन मिलने के बाद प्रज्ञा ने अपना पहला सेल्यूट अपने कैप्टन भाई सुवीर शेखावत को दिया और माँ पिताजी के पांव छूकर उनका आशीर्वाद लिया। इस खास मौके पर सेरेमनी में उनके माता-पिता के अलावा उनकी दादी भी शामिल हुई थी। प्रज्ञा शेखावत के अमेरिकन वायुसेना में चयनित होने पर पूरे गाँव में ख़ुशी की लहर है। परिवार के सभी सदस्यों के बेटी की इस सफलता पर गर्व है।गाँव के लोग और खासकर बच्चे जो उनसे जुड़े हुए थे वे प्रज्ञा शेखावत के गाँव आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। सभी जानते हैं कि अमेरिका की वायुसेना को दुनिया में सबसे ताकतवर माना जाता है। भारतीय वायुसेना का इजरायली वायुसेना के बाद चौथा स्थान है।

Leave a Comment