खबरे

NeoCoV से इंसान को कोई खतरा नहीं है – जानिए क्या कहती है स्टडी

भ्रामक सुर्खियों और वायरल संदेशो के साथ समाचार संगठनो द्वारा हाल की रिपोर्टो में ‘ नियोकोव’ (NeoCov) नामक कोरोना वायरस के एक नए स्ट्रेन की खोज का दवा किया गया है | रिपोर्ट यह भी सुझाव देती है की यह”3 में से 1″ लोगो को मरता है | हलाकि, किट फिट ने सोशल मीडिया पर प्रसारित इस गलत जानकारी को ख़ारिज कर दिया है – न तो नियोकोव एक ‘नया’ वायरस है और न ही यह कोविड-19 का एक वेरिएंट है | इसके अतिरिक्त, मनुष्यो में अब तक NeoCoV के कोई पुष्ट मामले नहीं हुए है |

neocov is not covid 19 virus

चीनी विज्ञानिको द्वारा किये गए अध्ययन में, ‘ अप्रत्याशित रूप से’ पता चला की NeoCoV और इसके करीब रिश्तेदार, पीडीऍफ़-2180-CoV  ,  संभावित रूप से प्रवेश के लिए मानव और चमगादड़ एंजियोटेनसिन-परिवर्तित एन्ज़यमें२ _ ACE २ रिपोर्टर का उपयोग कर सकते है | इसका मतलब है की इसमें मनुष्यो को संक्रमित करने की क्षमता है | अध्ययन में कहा गया है की सभावना इसके पुनः संयोजन पर निर्भर करती है |

NeoCoV से इंसान को कोई खतरा नहीं है – जानिए क्या कहती है स्टडी

यह वायरस केवल चमगादड़ में देखा जाता है | NeoCoV के बारे में हम क्या जानते है | NeoCov एक नया वायरस नहीं है, यह पहली बार 2014 में पाया गया था | यह वायरल केवल चमगादड़ो में पाया जाता है और अब तक किसी इंसान को संक्रमित या मार नहीं पाया है | नया अध्ययन, जो मनुष्यो को संक्रमित करने के लिए NeoCoV की क्षमता के बारे में बात करता है, सहकर्मी की समीक्षा नहीं की जाती है |

NeoCoV कोविड -19 का एक नया वेरिएंट नहीं है | समाचार संगठनो द्वारा प्रकाशित आंकड़े रुसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट पर आधारित थे, जिसनेन तो नियोकोवको कोविड -19 का एक वेरिएंट कहा था और न ही यह कहा था की वायरस की मृत्यु दर ३३ प्रतिशत ( 3 में से 1) है। स्पुतनिक रिपोर्ट में कहा गया था की चुकी नियोकोव मध्यपूर्व् श्वसन सिंड्रोम (मेरस-CoV ) से निकटता से सम्बंधित था, इसलिए यह संभावित था, इसलिए यह संभावित रूपसे MERS से सामान मृत्यु दर हो सकती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.