देश दुनिया

पंजाब में पीएम की सुरक्षा भंग में चूक जानबूझकर की गई या कुछ और?

प्रधान मंत्री मोदी की फ़िरोज़पुर रैली रद्द हो गयी। इसकी ख़ास वजह हैं रैली की सुरक्षा प्रबंद में चूक हुई। चंडीगढ़, पंजाब में फ़िरोज़पुर रैली मे प्रधान मंत्री मोदी द्वारा होने वाली थी। अब ये रैली रद्द होगयी है और वह के प्रबंध मे चूक होने की रिपोर्ट गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से की है। अपने शब्दों में मंत्रालय ने ये कहा की पंजाब दौर पर प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक का विषय सामने आया है। मोदी का काफिला एक फ्लाईओवर पर करीब १५ से २० मिनट तक रुका हुआ। मोदी ने भी पंजाब सरकार पर तंज कसा जब वो भटिंडा एयरपोर्ट पर वापिस पहुंचे। AANI न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक , जब मोदी एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्होंने वह के अधिकारियो से ये कहा की ‘ अपने मुख्यामंत्री को मेरा धन्यवाद कहना की मैं भटिंडा एयरपोर्ट जिन्दा पहुंचा।

पंजाब में पीएम की सुरक्षा भंग में चूक जानबूझकर की गई कुछ और नहीं बल्कि प्रधानमंत्री की हत्या का प्रयास

इस बात पर भाजपा ने ये कहा की इस कार्यक्रम को रद्द होने में कांग्रेस की साज़िश रही होगी। रैली रद्द होने के कारण वह किसानो ने यह दवा किया की किसानो के विरोध और पंजाबियो में मोदी की अस्वीकार्यता हैं। कुछ दिनों पहले भी रैली ऐसे ही रद्द हो चुकी थी तब रैली के रद्द होने का कारन ख़राब मौसम और कोरोना बताया था।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक बोले गृह मंत्रालय 

भटिंडा उतरने के बाद मोदी ख़राब मौसम के कारन उन्होंने २० मिनट इंतज़ार किया और उसके बाद सड़क से राष्ट्रीय शहीद स्मारक तक पहुंचे और यहा पहुंचने उन्हें दो घंटे लगे। उनका काफिला पंजाब के डीजीपी के भरोसे से आगे बड़ा था. शहीद स्मारक  जो हुसैन्याला में था वह जाने के ३० किलोमीटर पहले एक फ्लाईओवर पर उनका काफिला पंहुचा और उस रोड पर प्रदर्शनकार्यो ने रास्ता रोका था. और इसी जगा फास गए थे मोदी १५ से २० मिनट. और इसे प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बहुत बड़ी चूक बताया.

modi convoy punjab

इस चूक के बाद उठे ३ सवाल.

१* जब जो रस्ते पर मोदी जी जा रहे थे अगर वह किसानो ने रास्ता रोका और वहा से हटने तैयार नहीं थे थो तब मोदी का रास्ता क्यों बदला नहीं गया.

२* PM का रूट पंजाब पुलिस ने बदला क्यों नहीं जबकि उन्हें पता था की मोदी इस रूट से हेलिकप=ोप्टर से नहीं बल्कि रोड के ज़रिये जाने वाले थे.

३* समय रहते पंजाब पुलिस ने मोदी के रस्ते पर खड़े हुए किसानो को क्यों नहीं हटाया.

punjab modi convoy

मोदी की फिरजापुर में चुनावी रैली होने वाली थी. मोदी किसान आंदोलन ख़त्म होने के बाद पहली पहली बार पंजाब आयेथे. और उन्होंने भटिंडा के मार्ग को चुना ताकि मौसम ख़राब था. उनके दौर के विरोध को भी उन्होंने इस रस्ते पर सहा. और इसके बाद रैली भी रद्द करदी गयी. और यही सब होने के बाद पंजाब सरकार के रवैये को लेकर उठने लगे कही सारे सवाल.

भारत के इतिहास में पहले कभी किसी राज्य सरकार ने पीएम को नुकसान पहुंचाने की कोशिश नहीं की' - स्मृति ईरानी

Leave a Reply

Your email address will not be published.