मंदिरो के दान पेटी मे फ़ेखता था यूज्ड कॉन्डम पकड़े जाने पर बताया कारण

कर्नाटक पुलिस वालो ने आखिरकार कर ही लिया गिरफ्तार उस इंसान को जो डालता था मंदिरो के बॉक्सों में इस्तेमाल किये गए कण्डोम। एक साल से ये आदमी कर रहा था यही हरकत। और उस इंसान का कोई पछतावा नहीं हैं। मंदिरो के डोनेशन बॉक्स में इस्तेमाल किये गए कंडोम डालने वाला इंसान पकड़ा गया। कर्नाटक पुलिस ने किया इसको गिरफ्तार। गिरफ्तार हुए गए आदमी का नाम है देवदास देसाई से जाना गया है। इसे गिरफ्तार करने के बाद पुलिस वालो ने जब पूछताछ किया तो उसने बताया की वह ऐसा गन्दा काम क्यों करता था। कारण में उसने ये बताया की वह ऐसा काम करके इशू के बारे में सन्देश फैलाना चाहते है। करीब एक साल से इस इंसान की तलाश में थे। जब उसे पकड़ा गया तो उसे कोई पछतावा नहीं हैँ। चकमा देकर भागता था हमेशा देवदास देसाई ।

karnataka police arrested man

यूज्ड कंडोम डालता था मंदिरो के डोनेशन बॉक्स में , पकडे जाने पर बताया यह कारण

देवदास देसाई के करतूत के बारे में छापा था ‘द सुन ‘ के अख़बार में छपा था ये न्यूज़। पुलिस के अनुसार देवदासी देसाई ६२ वर्ष का आदमी हैं । यह पेशे से एक ऑटो ड्राइवर था और अब किसी प्लास्टिक बनने की कम्पनी में काम करता हैँ। इसने मंगलूरु के कई मंदिरो में यह शर्मनाक हरकत कर चुका है। बहुत लम्बे समय से पुलिस इसे ढूंढ रही थी, पर हर बार देवदास भाग निकलता था। २७ दिसंबर को पिछले वर्ष कोरज्जाना कट्टे नाम गाँव में एक मंदिर के दान पेटी में यूज़्ड कंडोम मिला। मंदिर के कर्मचारियों ने जब इसका मामला दर्ज दिया थो देवदास को गिरफ्तार कर लिया गया ।

कैसे पंहुचा देवदास जेल तक

जब मंदिरों से ऐसे शिकायत पुलिस वालो के पास आये तब पुलिसवालो ने अधिकारियो को आदेश दिया की सभी मंदिरो के सारे फुटेज छान मारे। तब फुटेज की छानबीन हुई तो इस आदमी का चेहरा सामने आया और फुटेज की मदद से देवदास गिरफ्तार हो गया ।देवदास ने बताया की उसने अपने पत्नी और बच्चों को भी छोड़ दिया हैँ।

मंगलूरु के कमिश्नर एन शशिकुमार के मुताबिक जब देवदास से इस करतूत के बारे पे पूछताछ की तो उसने बताया की उसने आजतक कुल मिलाकर 18 मंदिरो को अपवित्र किया हैँ। और सिर्फ ५ मंदिर वालो ने शिकायत दर्ज किया था।

इस गंदे काम की वजह देवदास ने ये बताया की ताकि वो मंदिरो को अपवित्र करके लोगो को अपने तरफ मोड़ना चाहता था और उसने यह भी बोला है की उसने यह काम सिर्फ मंदिर ही नहीं बल्कि मस्जिद और गुरुद्वारों में भी कर चूका हैँ। वो कहता हैं की स्ने केवल इशू के सन्देश का प्रचार करने ही यह हरकत की हैँ। उसने कहा है की , मैं कंडोम इसलिए फेकता था क्युकी अशुद्ध चीज़ो को अपवित्र स्थानों पर ही फेकना चाहिये। इसे अपने किये पर कोई पछतावा नहीं हैँ।

Leave a Comment