खबरे

इस्लाम कबूल कर लो! एक महिला ने पूर्व क्रिकेटर से ये बात कहा – पेशाब पीने वाले…

डेनिश कनोरिया जो की पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर है, अब ये फिरसे अपने धर्म के कारण चर्चो में शामिल हो गए है | कुछ दिनों पहले ही उनके हिन्दू होने के कारण पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में उनके साथ भेदभाव बताने की बात सामने आयी थी। सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए एक मुस्लिम महिला ने उनसे यह अपील करते हुए कहा की वो इस्लाम कबूल करे। जब कनेरिया ने उस महिला की इस बात को इंकार किया तो उस महिला ने यह कहा की पेशाब पीने वालो को कौन समझायेगा |

women said to convert to islam to pak cricketer

यह महिला कोई और नहीं बल्कि खुद को कनेरिया की गेंदबाजी का प्रशंसक बताने वाली आमना गुल है। उस महिला ने यह ट्वीट किया की, ” आप प्लीज इस्लाम कबूल कर लीजिये। इस्लाम सोना है। इस्लाम के बगैर कुछ भी नहीं है। आप की जिंदगी मौत की तरह है। आप इस्लाम कबूल कर लीजिये | ” इस पर रीट्वीट करते हुए कनेरिया ने कहा ही, ” आप जैसे कई लोगों ने मेरा धर्म बदलवाने की कोशिश की, लेकिन किसी को कामयाबी नहीं मिली”। उनके इसी जवाब के बाद महिला भड़क गयी और उस महिला ने इस विषय पर हिन्दुओ को निशाना साधा , और उसने यह लिखा है की, ” मैं पेशाब पीने वालो को नहीं समझा सकती। तुम लोग जीते और मैं हारी”। इन दोनों के ट्वीट को देकखर कही पाकिस्तानियो ने डेनिश के इस ट्वीट पर कमेंट किया है |

महिला ने पूर्व क्रिकेटर से कहा- इस्लाम कबूल कर लो, इनकार किया तो बोली- पेशाब पीने वाले

उन लोगो ने इस पोस्ट पर यह कहा की इस्लाम कबूल करना या नहीं करना आपका फैसला है , लेकिन उस महिला फैन ने आपको केवल अपना धर्म बदलने के लिए ही न्योता दे रही है। उस महिला का और कोई उद्देश्य नहीं है ऐसा फैंस ने कहा | लोगो ने यह भी कहा की हमे आपसे इस तरह की जवाब की उम्मीद बिलकुल नहीं थी।

एक दूसरे यूजर ने भी इस पोस्ट पर डेनिश को यह सवाल किया की पाकिस्तान में उनपर धर्म परिवर्तन का दबाव है तो क्या वे पाकिस्तान में सेफ नहीं महसूस करते है क्या ? इस पर भी कनेरिया ने यह जवाब दिया है की, ” मै सेफ हूँ ! मैंने पहले भी कहा की कुछ लोगो ने कोशिश की थी। शब्दों के साथ न खेले | ” देख सकते है की डेनिस कनेरिया ने इस सेशन में कही लोगो को जवाब दिया है | पर एक बार फिर से डेनिश को आमना गुल द्वारा की गयी अपील ने उन्हें सुर्खियों में दाल दिया है | एक को उन्होंने ये भी रिप्लाई किया है की सबसे ज्यादा धार्मिक भेदभाव से ही उन्हें डर लगता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.